अपना शहर खबरीलाल ब्रेकिंग न्यूज़ सिटीजन जर्नलिस्ट स्टॉप क्राइम

मध्य प्रदेश से 13 दिन पहले अपहृत बच्चों के शव आज बांदा में मिले

चित्रकूट। उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश पुलिस के तमाम प्रयास व्यर्थ हो गए। मध्य प्रदेश के सतना से अपहृत चित्रकूट के व्यवसायी के दो बच्चों के शव 12 दिन बाद आज बांदा में यमुना नदी में मिले। पुलिस ने इस मामले में तीन छात्रों सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।

चित्रकूट की सीमा से सटे मध्य प्रदेश के सतना में सद्गुरु सेवा संघ ट्रस्ट के सद्गुरु पब्लिक स्कूल से 12 फरवरी को अपहृत आयुर्वेदिक तेल कारोबारी ब्रजेश रावत के दोनों बच्चों के शव आज बांदा जिले के बबेरु थाना क्षेत्र में यमुना नदी में मिलने से सनसनी फैल गई।

अपहरणकर्ताओं ने पांच वर्षीय जुड़वा बेटों प्रियांश व श्रेयांश रावत की हत्या कर शव बांदा जिले के बबेरू थानान्तर्गत औगासी गांव के पास यमुना नदी में फेंक दिए थे। जानकीकुंड ट्रस्ट परिसर से 13 दिन पहले अपहृत बच्चों को ढूंढने में एमपी यूपी की 26 पुलिस टीम के साथ ही साथ एसटीएफ फेल रही।अपहरणकर्ता इतने क्रूर थे कि दोनों मासूम बच्चों के हाथ पैर रस्सी व जंजीर से बांधकर जिंदा मर्का थाना क्षेत्र के औगासी गांव से करीब तीन किलोमीटर दूर बाकल गांव के समीप देवी मंदिर के बगल से बह रही यमुना नदी में फेंक दिया था।

आज सुबह पुलिस को सूचना मिली और दोनों शव को बरामद किया गया। शवों की हालत देखकर साफ जाहिर की हत्या तीन से चार दिन पहले हुई है। दोनों शवों को जंजीर से बांध कर फेंका गया। बच्चों के शव मिलने के बाद धर्म नगरी चित्रकूट के रामघाट सीतापुर निवासी तेल कारोबारी ब्रजेश रावत के परिवार के लोगों के साथ ही संबंधियों का रो-रो कर बुरा हाल है। घर पर भीड़ जुट रही है।

सतना के कई थानों के फोर्स नया गांव पहुंच चुका है। एसपी चित्रकूट मनोज कुमार झा ने कहा कि सुबह शव मिले हैं। अपहरणकर्ता हत्यारे भी गिरफ्तार हो चुके हैं। फिलहाल और कुछ बताने से इन्कार किया है। वहीं, सतना एसपी संतोष सिंह गौर ने भी बच्चों की हत्या की पुष्टि की है। बताया 12 बजे नया गांव थाने पर जनकारी दी जाएगी। पुलिस बच्चों को नहीं बचा सकी पर हत्यारे अपहर्ता गिरफ्त में हैं।

बच्चों के अपहरण व हत्या के मामले में पुलिस की टीमों ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें तीन छात्र भी हैं। इनमें जानकी कुंड सतना के सद्गुरु सेवा संघ ट्रस्ट के पुरोहित का बेटा भी शामिल है। तीन अपहरणकर्ता ग्रामोदय विश्वविद्यालय चित्रकूट सतना के हैं। इनमें दो छात्र हैं। सतना से अपहरण कर फिरौती वसूलने के बाद बांदा में हत्या की गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *