अपना शहर खबरीलाल ब्रेकिंग न्यूज़ सिटीजन जर्नलिस्ट

चुनाव आयोग के प्रतिबन्ध के बावजूद काशी पहुंचे CM योगी

वाराणसी। अचार संहिता के उल्लंघन को लेकर चुनाव आयोग ने यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ पर 3 दिन तक बैन लगाया था। इसके बावजूद भी वे लगातार तीसरे दिन लोगों के बीच पहुंचे। पहले दिन गोरखपुर में, दूसरे दिन अयोध्या और आखिरी दिन यानि गुरुवार को बाबा विश्वनाथ की नगरी और पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र काशी पहुंचे। यहां संकट मोचन मंदिर पहुंचकर विधि विधान से पूजा की और हनुमान चालीसा का पाठ किया। वहीं, दूसरी ओर खुद पर लगे बैन के 48 घंटे पूरे होते ही मायावती ने चुनाव आयोग पर निशाना साधा। मायावती ने ट्वीट कर पूछा कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ मंदिर-मंदिर घूम रहे हैं और चुनावी फायदा उठा रहे हैं। चुनाव आयोग उनपर इतना मेहरबान क्यों है?

गड़वाघाट आश्रम में गायों को खिलाया चारा

हनुमानजी का दर्शन-पूजन करने के बाद सीएम योगी गड़वाघाट आश्रम पहुंचे। गौशाला में सभी गायों को अपने हाथों से चारा खिलाया और उसके बाद वहां से निकलकर वो आश्रम के महंत के कमरे में चले गए। कुछ देर सीएम यहां महंत से बात की और उनसे गड़वाघाट आश्रम की व्यवस्थाओं में बारे में जानकारी हासिल किया।

गड़वाघाट आश्रम आते रहे हैं कई दिग्गज नेता

बता दें, गड़वाघाट आश्रम यादव समाज के लोगों का गढ़ माना जाता है यह वह आश्रम है जहां से मिले आदेश के बाद यहां आने वाले अनुयायी उसी फैसले के साथ जाते हैं। ऐसे में लोकसभा चुनाव के माहौल में इस स्थान का महत्व अपने आप ही बढ़ जाता है। यही नहीं यादवों के गढ़ माने जाने वाले इस आश्रम में समाजवादी पार्टी के दिग्गज नेता मुलायम सिंह यादव, उनके भाई शिवपाल यादव के अलावा तत्कालीन समय में सपा से अलग होने के बाद अमर सिंह ने यहां होने वाले वार्षिक एक अनुष्ठान में शामिल हो चुके हैं।

पीएम मोदी ने भी आश्रम में गायों को खाना खिलाया था

यही नहीं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी पिछले विधानसभा चुनाव के वक्त यहां आकर अपनी आस्था प्रकट की थी। इसके अलावा पीएम ने भी पूरे आश्रम का जायजा लेने के साथ ही गायों को चारा खिलाया था और महंत जी से मुलाकात की थी।। इसके बाद विधानसभा चुनाव में पीएम ने अपने अकेले के दम पर वाराणसी के सभी विधानसभा सीटों को जीत पार्टी को दे दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *