तीसरे चरण में उप्र की दस सीटों पर करीब 61 प्रतिशत मतदान

लखनऊ। लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में उत्तर प्रदेश की दस सीटों पर मंगलवार शाम छह बजे तक 60.52 प्रतिशत मतदान हुआ। हालांकि, जो मतदाता मतदान केंद्रों पर छह बजे तक पहुंच चुके थे, उन्हें भी वोट डालने का अवसर दिया गया। इसके चलते मतदान प्रतिशत में एक से दो फीसदी तक इजाफा हो सकता है। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल0 वेंकटेश्वर लू ने मतदान अवधि समाप्त होने के बाद पत्रकारों को बताया कि सूबे में तीसरे चरण का मतदान भी शांतिपूर्वक सम्पन्न हुआ। समाचार लिखे जाने तक छुटपुट घटनाओं को छोड़ कहीं से किसी अप्रिय वारदात की खबर नहीं मिली।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि शाम छह बजे तक सबसे अधिक 64.60 प्रतिशत मतदान पीलीभीत संसदीय क्षेत्र में हुआ। पिछली बार इस सीट के लिए 62.92 फीसदी वोट पड़े थे। उन्होंने बताया कि इस चरण में सबसे कम 57.50 प्रतिशत मतदान बदायूं सीट पर हुआ। वर्ष 2014 में बदायूं में 58.05 फीसदी मतदान हुआ था। इसी तरह मुरादाबाद में 64.11, रामपुर में 60, सम्भल में 61.80, फिरोजाबाद में 58.80, मैनपुरी में 57.80, एटा में 59.90, आंवला में 59.18 और बरेली में आज 61.49 प्रतिशत मतदान हुए। पिछले चुनाव में इस सीटों के लिए क्रमशः 63.58, 59.32, 62.40, 67.61, 60.65, 58.79, 60.20 और 61.22 फीसदी वोट पड़े थे। तीसरे चरण में प्रदेश की दस लोकसभा सीटों मुरादाबाद, रामपुर, सम्भल, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा (कासगंज), बदायूं, आंवला (बरेली), बरेली और पीलीभीत में कड़ी सुरक्षा के बीच आज सुबह सात बजे से मतदान प्रारम्भ हो गया था।

शुरुआत में कुछ मतदेय स्थलों से इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) के खराब होने की शिकायत मिली लेकिन, जल्द ही उन्हें ठीक कर लिया गया अथवा उनकी जगह दूसरी मशीन लगा दी गयी। मतदान केंद्रों पर सुबह से ही मतदाताओं की भीड़ जुटने लगी थी। हर दो घंटे के अंतराल पर मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय द्वारा मतदान प्रतिशत जारी किया गया। शुरु के दो घंटों में दसों सीटों पर औसत मतदान 10.24 प्रतिशत रहा, जो पूर्वाह्न 11 बजे 22.64, अपराह्न एक बजे 35.49, तीन बजे करीब 47.10 और पांच बजे तक 56.71 फीसदी पहुंच गया। यद्यपि मतदान की अवधि शाम छह बजे समाप्त हो गयी, लेकिन उस समय तक जो लोग कतार में खड़े थे, निर्वाचन आयोग की तरफ से उन्हें वोट देने का अवसर प्रदान किया जा रहा है।

ऐसे में मतदान का प्रतिशत देर रात तक स्पष्ट हो पाएगा। ईवीएम को लेकर मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने समाजवादी पार्टी के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। दरअसल सपा नेताओं ने आरोप लगाया था कि आज मतदान के दौरान रामपुर लोकसभा क्षेत्र में 300 से अधिक ईवीएम खराब हुए। मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि रामपुर में माॅक पोल के दौरान आठ बैलेट यूनिट, सात कन्ट्रोल यूनिट और 21 वीवी पैट खराब हुए थे जबकि मतदान के दौरान यह संख्या क्रमशः 18, 19 और 52 रही, जिसे तत्काल बदल दिया गया।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि ईवीएम में खराबी की सबसे कम शिकायत रामपुर क्षेत्र से रही। ऐसे में सपा के आरोप निराधार पाए गए। एक दूसरे सवाल के जवाब में मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदान के दौरान मुरादाबाद के एक बूथ से कुछ लोगों के द्वारा मारपीट का मामला प्रकाश में आने के बाद वहां के पीठासीन अधिकारी को हटा दिया गया। इस मामले में मारपीट के एक आरोपित को गिरफ्तार भी किया गया है।

उन्होंने बताया कि शिकायत पर एटा में भी एक पीठासीन अधिकारी को बदल दिया गया। कुल 120 उम्मीदवार तीसरे चरण की दस सीटों के लिए कुल 120 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इनमें मुरादाबाद में कुल 13 उम्मीदवार, रामपुर में 11, सम्भल में 12, फिरोजाबाद में छह, मैनपुरी में 12, एटा (कासगंज) में 14, बदायूं में नौ, आंवला (बरेली) में 14, बरेली में 16 तथा पीलीभीत में 13 उम्मीदवार हैं। इस चरण में महिला उम्मीदवारों की संख्या 14 है।

उन्होंने बताया कि तृतीय चरण में प्रमुख रूप से भाजपा के दस उम्मीदवार, कांग्रेस के छह, बसपा के एक, सपा के नौ और सीपीआई के एक उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। 1.78 करोड़ मतदाता इस चरण के इन दस संसदीय क्षेत्रों में मतदाताओं की कुल संख्या 1.78 करोड़ है, जिनमें 96.20 लाख पुरुष, 81.89 लाख महिला और 924 तृतीय लिंग के मतदाता हैं। तीसरे चरण के जनपदों में 18 से 19 वर्ष के 298619 युवा मतदाता तथा 80 वर्ष से अधिक के मतदाताओं की संख्या 299871 है। मुरादाबाद लोकसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 19,56,174 मतदाता हैं जबकि एटा क्षेत्र में सबसे कम 16,17,962 मतदाता हंै।

ये रहीं तैयारियां तीसरे चरण में कुल 12128 मतदान केंद्र तथा 20120 मतदेय स्थल स्थापित किए गए थे। इनमें 4515 मतदेय स्थल क्रिटिकल रहे। 1989 मतदेय स्थलों पर डिजिटल और 1255 मतदेय स्थलों पर वीडियो कैमरे लगाये गये थे। इसके अलावा 2162 मतदेय स्थलों पर वेब कास्टिंग की व्यवस्था की गयी थी।

इस चरण में मतदान कार्य में प्रयोग की जाने वाली ईवीएम एवं वीवी पैट की संख्या (आरक्षित सहित)-बैलट यूनिट 26,526, कन्ट्रोल यूनिट 23,352 तथा वीवी पैट 24,950 रही। इस बार शत प्रतिशत मतदेय स्थलों पर वीवी पैट का प्रयोग किया गया। इसके अलावा मतदान के लिए 1610 सेक्टर मजिस्ट्रेट, 186 जोनल मजिस्ट्रेट और 358 स्टैटिक मजिस्ट्रेट तैनात किए गए थे। इसी तरह दस सामान्य प्रेक्षक, पांच पुलिस प्रेक्षक, दस व्यय प्रेक्षक और 47 सहायक व्यय प्रेक्षक लगाए गए थे।

तीसरे चरण के लिए कुल 88,681 मतदान कर्मियों को लगाया गया था। स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शान्तिपूर्ण मतदान सम्पन्न कराने के लिए पर्याप्त संख्या में अर्द्धसैनिक बल एवं पीएसी की तैनाती की गयी है। दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर तीसरे चरण के प्रमुख उम्मीदवारों में मैनपुरी से सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव, बरेली से केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार, रामपुर से सिने स्टार जया प्रदा, सपा के वरिष्ठ नेता मो0 आजम खां, पीलीभीत से वरुण गांधी, फिरोजाबाद से प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल सिंह यादव और सपा नेता प्रो0 रामगोपाल यादव के बेटे अक्षय यादव शामिल हैं। पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के बेटे राजवीर सिंह भी एटा से उम्मीदवार हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *